नीचता की सारी हदें पार 55 वर्ष की कोरोना पॉजिटिव महिला के साथ छेड़छाड़,,

अम्बिकापुर,, छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में मेडिकल कॉलेज अस्पताल परिसर में बने स्पेशल कोविड वार्ड में कोरोना पॉजेटिव एक 55 वर्षीय महिला के साथ जो हुआ उसे जानकर रोंगटे खड़े हो जायेंगे, इस कोवीड एक्सक्लूसिव वार्ड में एक व्यक्ति कोरोना चिकित्सक बनकर रात ढाई बजे भीतर जाकर महिला से छेड़छाड़ करता है। विरोध करने पर महिला का मोबाइल छीनने की असफ़ल कोशिस करता है और भाग खड़ा होता है। संक्रमित महिला के सम्पर्क में आने के बाद आरोपी युवक भागकर अस्पताल के रसोई के एक ऐसे कर्मचारी के सम्पर्क में रहता है जो पुरे अस्पताल में करीब 200 भर्ती मरीजों को सुबह का नाश्ता भी बांटता हैऔर चिकित्सकों को चाय भी पिलाता है। इस डरा देने वाली घटना ने सबको संकट में डाल दिया जिसने भी सुना उसके हाथ पाँव फूलने लगे, पर अब प्रबंधन लीपापोती में लग गयी है ज़वाब देने वाले बचते है

इस कोरोना काल में भी अचानक से आयी अजीबो ग़रीब खबरे बेचैन कर देती हैं। छत्तीसगढ़ का अंबिकापुर जो प्रदेश के सवास्थ मंत्री टी एस सिंहदेव का गृह नगर है के बंगले से 1 किलोमीटर के दायरे में इलाका है मोमिनपुरा जहाँ की एक 55 वर्षीय मुस्लिम महिला जो की कोरोना पॉजिटिव होने के कारण जिला अस्पताल के एक्सक्लूसिव कोविड – 19 वार्ड में भर्ती हैं, दिनाक 20.05.2020 को उनके साथ जो घटना हुयी वो समाज के साथ साथ उस भ्र्स्ट तंत्र पर सवाल खड़ा करता है जिसकी ज़िम्मेदारी है की कोरोना के मरीज़ों की देखभाल और सुरक्षा उनकी ज़िम्मेदारी है। गौरतलब है कोविंड वार्ड में सरगुजा संभाग के सूरजपुर से 1, कोरिया जिले से 1 के अलावा सरगुजा जिले के अंबिकापुर की एक महिला कोरोना पॉजिटिव भर्ती हैं।
महिला को आई सी यु में रखा गया है, पीड़ित महिला के मुताबिक़ मंगलवार रात करीब 2.30 बजे एक युवक उनके कमरे में आता है और कमरे की लाइट बंद करता है तभी इनकी नींद खुल जाती है, महिला के पूछने पर की आप कौन है? युवक कहता है की मैं कोरोना का इलाज करने आया हूँ यहाँ का डाक्टर हूँ। महिला ने पूछा की आप लाइट क्यों बंद कर रहें हैं? रुकिए मैं अपने लड़के से बात कर बता दूँ महिला को युवक की बातों पर शक होता है, इसी बिच युवक महिला को लेटे रहने की बात कहते हुए महिला के कंधे पर हाथ रखता है जिससे महिला डर जाती है पर बड़े सूझबूझ का परिचय देते हुए झूठ में ही अपने लड़के को फोन लगाकर कहती है की बेटा जल्दी आओ कोई डॉक्टर आया है, और युवक मोबाईल छीनने का असफ़ल प्रयास करता है, और भाग जाता है।

पीड़ित महिला ने सूझबूझ के साथ हिम्मत दिखाई…

पीड़ित महिला ने फोन पर बताया की यदि उनके पास फ़ोन नहीं होता तो शायद उनकी चीख़ें भी सुनने वाला वहां कोई नहीं था ,कोई भी अनहोनी होने पर सुबह तब तक पता नहीं चलता जब तक कोई मेडिकल स्टाफ कोविड वार्ड में नहीं आता। घटना के बाद महिला ने अस्पताल के डॉ और अपने पुत्र जो खुद कोरेन्टाइन है के मोबाईल पर कॉल कर उन्हें पुरे घटना की जानकारी दी जिसके बाद रात में प्रबधन के माध्यम शहर के विधायक और प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री को फोन पर घटना से अवगत कराया गया। मंत्री टी एस सिंहदेव ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जिला प्रशासन को तत्काल कारवाही के निर्देश दे दिए।

आरोपी युवक अस्पताल कर्मचारी निकला…

इधर आरोपी युवक की पहचान करने सुबह होते ही अस्पताल की cctv खंगालने पर पता चला की रात में कोविड वार्ड में प्रवेश कर महिला से छेड़खानी करने वाला युवक अस्पताल का ही एक सफ़ाई कर्मचारी बैजेन्द्र राजवाड़े {23) है जिससे एम्बुलेंस चलवाने का भी काम लिया जाता है। cctv देखने के बाद आरोपी युवक के ख़िलाफ़ मणिपुर पुलिस चौकी को सूचित किया गया जिसके बाद खोजबीन करने पर आरोपी युवक अस्पताल परिसर में पकड़ा गया।
पुलिस चौकी मणिपुर प्रभारी ए एस आई प्रमोद यादव ने बताया बैजेन्द्र की खिलाफ पुलिस ने 457, 354,188, 269, 270 IPC व् महामारी अधिनियम 03, आपदा प्रबंधन अधिनियम की धरा 51 के तहत मामला दर्ज करीब 11 बजे सुबह हिरासत में लिया गया चूँकि आरोपी संक्रमित महिला के सम्पर्क में था इस वजह से उससे ज़्यादा बारीकी से पूछताछ करना संबव नहीं हो सका फ़िलहाल उसे और उसके साथी हरिशचंद्र राजवाड़े को पुलिस अभिरक्षा में अंबिकापुर के सलका में कवारेन्टीन किया गया है। युवक किस उद्देश्य से कोवीड वार्ड में दाख़िल हुआ ,उसकी मंशा क्या रही , क्या वह शराब के नशे में था फिलहाल पुलिस के पास इन सभी सवालों के जवाब नहीं है।

घटना के बाद फरार युवक के वजह से सैकड़ों पर संक्रमण का खतरा…

जिस कोविड वार्ड में बग़ैर पीपीई किट और तमाम सुरक्षा व्यवस्था के साथ प्रवेश करने का नियम है वहां पर आरोपी युवक का रात के 2 बजे बिना किसी सुरक्षा उपाय के चले जाने से बेहद ख़तरनाक स्थिति निर्मित हो गयी है। अस्पताल के ही एक मजदुर ने हमे इस बात की पुष्टि कर दी की आरोपी युवक घटनास्थल से भागकर अस्पताल में अपने करीबी हरिश्चंद्र राजवाड़े सफ़ाई कर्मचारी के साथ रात गुज़ारा जो अस्पताल में सुबह के समय करीब दो सौ मरीजों को सुबह का नाश्ता बांटने का काम किया साथ ही चिकित्सकों को चाय भी परोसा है जिसके वजह से सैकड़ो लोगों पर कोरोना संक्रमण का खतरा मंडरा रहा। इस बात पर विभाग के ज़िम्मेदार अधिकारी किसी भी सवाल के जवाब से बच रहे हैं।

करोडो रु. का एक्सक्लूसिव कोविड वार्ड जहाँ कोई सुरक्षा व्यवस्था नहीं…

परिजनों के साथ साथ शहर की भड़की जनता का कहना है की जिला अस्पताल परिसर में पुराने जीर्ण शीर्ण भवन को रिपेयर कर करोडो रु स्वास्थ विभाग डकार गया पर वहां सुरक्षा के नाम पर न तो सुरक्षा कर्मी है न ही मनोरंजन का साधन। एक बड़े हॉल में महिला को ऐसे छोड़ दिया गया है जैसे उन्हें कोई सजा काटने वहां रखा गया है। यदि वहां कोई अनहोनी हो गयी होती तो आख़िर उसका ज़िम्मेदार कौन होता इधर सबसे बड़ी बात की कोई कोरोना पॉजिटिव इस कोविड वार्ड से यदि भाग गया तो कितनो की जान जोख़िम में आ जाएगी।

कोरोना काल में ऐसी दुःसाहस को जानने-सुनने वाला हर व्यक्ति हैरत में…

पूरा विश्व कोरोना की चपेट में है ,कोरोना के अलावा दूसरी अन्य खबरे टीवी ,समाचार पत्रों में बमुश्किल देखने -सुनने को मिलती हैं ऐसे भयानक समय में भी ग़लत नियत के साथ सीधे कोविड वार्ड में जाकर संक्रमित महिला से छेड़छाड़ वाली घटना दिल दहला देने वाली है। इस समय देश में कोरोना संक्रमण के ख़तरे से जब कोई भी अनजान नहीं तब भी ऐसा करना दिमाग़ी तौर प बीमार होने की निशानी है, इससे पहले 19 मार्च को मध्यप्रदेश के सागर जिले के कवारेन्टाइन सेंटर में महिला के नहाते समय का विडिओ बनाकर ब्लेकमेल करने और महिला से रेप की कोशिस में दो लोग गिरफ़्तार हो चुके हैं।

CMHO ने कुछ भी बताने से मना करते हुए इतना ही कहा की पुलिस जाँच कर रही है…

स्वास्थ्य विभाग की इस बड़ी नाकामी और लारपवाही पर उठ रहे सवाल का जवाब जब विभाग के CMHO पूनम सिंह सिसोदिया से चाही गयी तो उन्होंने सिर्फ इतना ही कहा की CCTV फुटेज पुलिस को दे दी गयी है बाकि इस विषय पर मैं फ़िलहाल कुछ नहीं बता सकता।

आरोपी युवक की पत्नी ने कहा पति के साथ एक मुस्लिम कर्मचारी से विवाद हुआ था…

घटना के संबंध में जब हमने आरोपी युवक के घर का पता कर अंबिकापुर से 6 किलोमीटर दूर ग्राम जगदीशपुर गए तो उसकी पत्नी और पिता से मुलाक़ात की। पत्नी का कहना था हमारे दो बच्चे हैं पिछले 5 साल में बैजेन्द्र को लेकर कभी ऐसी शिकायत नहीं सुनने को मिली, शराब पीते हैं पर किसी महिला के साथ ऐसी हरकत नहीं कर सकते, आरोपी युवक पत्नी के मुताबिक़ उनके पति का एक दिन पूर्व अस्पताल के ही किसी मुस्लिम कर्मचारी से विवाद हुआ था ऐसा उसके पति ने बताया था। बुजुर्ग पिता के मुताबिक बैजेन्द्र के खिलाफ कभी इस तरह की कोई शिकायत सुनने नहीं मिली है , जिला अस्पताल अंबिकापुर में जीवन दीप समिति के तहत पिछले 3 साल से वह संविदा में सफ़ाई कर्मचारी का काम करता है ,पर वाहन चालक का लायसेंस होने के कारण अस्पताल वाले एम्बुलेंस भी चलवा

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.