मध्यप्रदेश की 102 पेटी अंग्रेजी शराब (गोवा ब्राण्ड) को छत्तीसगढ में खपाने के फिराक में एक 01 आरोपी गिरफ्तार, पांच लाख की शराब जप्त

लक्ष्य रजक,महासमुंद। पुलिस की टीम ने मुखबिर की सुचना पर दो वाहन की तलाशी लेते हुए उसमें रखे कुल 102 पेटी मध्यप्रदेश निर्मित गोवा ब्राड की शराब को जप्त की है. जिसकी कीमत करीब 5 लाख रुपये बताई गई है.

मामले में दो आरोपी शामिल है, दोनों ही अलग-अलग गाडी से अवैध शराब का परिवहन कर रहे थे. जिसमे से एक मौका देखकर

से एक मौका देखकर अँधेरे में अपनी गाडी वहीं छोड़कर भाग गया. जबकि भिलाई निवासी जयंत बंजारे पिता सिताराम बंजारे उम्र 20 वर्ष को पुलिस ने पकड़ लिया.

जिससे पुलिस को पूछताछ में बताया कि उसे भिलाई के रहने वाले एक व्यक्ति ने महासमुन्द जिले में उक्त शराब को खपाने के लिए भेजा है. आरोपी ने यह भी बताया कि महासमुन्द से बागबाहरा रोड में पडने वाले हाडाबंद ओवर ब्रीज के पास कोई व्यक्ति आता और उन्हें सप्लाई करने वाली जगह ले जाता.

जिसके बाद अब पुलिस की टीम यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि इतनी शराब की मात्रा उक्त युवक किससे ले कर आया और महासमुन्द जिले में किस-किस को उक्त शराब की खेप पहुचाने वाला था.

पुलिस ने बताया कि 29 जून 2020 को मुखबीर से सूचना मिली की रात्रि को अवैध शराब की बडी मात्रा महासमुन्द जिले में आने वाली है. उक्त सूचना पर थाना कोतवाली की टीम ने रात्रि 0900 बजे से महासमुन्द आने वाले और महासमुन्द से जाने वाले सभी रास्तों पर नाकेबंदी कर उक्त अवैध शराब के वाहन का इन्तजार करने लगी.

वहीं घोडारी पुल पर लगे टीम ने लगभग रात्रि 10:00 बजे कोतवाली पुलिस की टीम को सूचना दी की दो वाहन तेज रफ्तार से निकल रही है सम्भवतः यह वह संदिग्ध वाहन हो सकती है जिसमें अवैध शराब भरा हो.

सर्तक कोतवाली पुलिस की टीम ने उक्त वाहन को रोकने के लिए बेलसोण्डा रेलवे क्रासिंग को नाकेबंदी का स्थल बनाया. क्योकि पूर्व में भी अवैध शराब से भरी हुये वाहन को चलाने वाले पुलिस पार्टी पर वाहन को चढाने से नही हिचकते बेलसोण्डा रेलवे क्रासिंग के पहले व बाद में तीक्ष्ण मोड है जहाँ पर वाहनों को धीमा करना पडता है जिससे वाहनों को रोकवाना असान है.

पुलिस ने बताया कि संदिग्ध वाहन जैसे ही बेलसोण्डा रेलवे क्रासिंग के मोड में पहुंची वैसे ही कोतवाली पुलिस की टीम रेलवे क्रासिंग के इस पार व उस पार अपने वाहनों को अढा कर नाकेबंदी कर देती है पुलिस की इस नाकेबंदी से एक फार्चुनर वाहन क्रमांक CG04 HE/0003 रूक जाती है, जिससे पुलिस की टीम उक्त वाहन को चारों ओर से घेर लेती है. उक्त वाहन में वाहन चालक ही रहता है.

जबकि दूसरी वाहन SX4. पीछे गाडी घुमाकर भागने का प्रयास करता है परन्तु पुलिस की नाकेबंदी देखकर उसका वाहन चालक आसिक खान वाहन क्रमांक MH 14 BC/1151 SX4 वाहन को छोडकर अंधेरे का फयादा उठाकर भाग जाता है.

पुलिस की टीम द्वारा फार्चुनर वाहन में सवार युवक नाम पता पूछने पर उसने अपना नाम जयंत बंजारे पिता सिताराम बंजारे उम्र 20 वर्ष निवासी कैम्प 01 मेहमान कोलाडीपों के सामने शास्त्रीनगर भिलाई जिला दुर्ग बताया.

पुलिस की टीम जब उक्त वाहन की तलाशी लेती है तो उसमें 62 पेटी मध्यप्रदेश निर्मित गोवा ब्राड शराब भरी हुई रहती है. दूसरे वाहन SX4 क्रमांक MH 14 BC 1151 की तलाशी लेने पर उसमें 40 पेटी मध्यप्रदेश निर्मित गोवा ब्राड शराब भरी हुई होती है.

मामले में पुलिस की टीम 102 पेटी मध्यप्रदेश निर्मित शराब कीमति 5,10,000/- रूपये, 02 वाहन कीमति 15,00,000/- रूपये एवं 10,000/- रूपये नगदी रकम इस प्रकार कुल कीमति 20,20,000/- रूपये जप्त कर धारा 34(2) आबकारी अधिनियम के तहत् थाना सिटी कोतवाली में कार्यवाही कर रही है.

यह सम्पूर्ण कार्यवाही पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर के मार्गदर्शन में अति0 पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भुरकर साहू एवं अनु0अधिकारी (पुलिस) महासमुन्द नारद कुमार सूर्यवंशी के निर्देशन में थाना सिटी कोतवाली महासमुन्द प्रभारी शेर सिंह बन्दे, सायबर सेल प्रभारी उप निरीक्षक संजय सिंह राजपूत, उप निरीक्षक हर्ष कुमार धूरंधर, सउनि. विकास शर्मा, नवधाराम खाण्डेकर, प्रआर. प्रकाश नंद, मिनेश ध्रुव, आर. रवि यादव, अजय जांगडे, दिनेश साहू, विरेन्द्र नेताम, शैलेन्द्र ठाकुर, चम्पलेश ठाकुर, शुभम पाण्डेय, छत्रपाल सिन्हा, कामता आवडे, लालाराम कुर्रे एवं थाना स्टाफ द्वारा की गई है.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.