शहीद स्मारक काॅमप्लेक्स के हरिओम एजेंसी एवं नटराज इंटरप्राईजेस में नकबजनी करनें वाले आरोपियों को 12 घण्टे के भीतर रायपुर पुलिस नें किया गिरफ्तार

संजय मिश्रा। रायपुर

दिनांक 10-11.09.2020 की दरमियानी रात को दिये थे तीन दुकानो में नकबजनी की घटना को अंजाम…
आरोपियों नें दुकानों के शटर का ताला तोड़कर दिया था घटना को अंजाम…
शहीद स्मारक काॅमप्लेक्स में आरोपी पूर्व में कर चुके है काम…
आरोपी पूर्व में भी नकबजनी एवं लूट के प्रकरण में रह चुके है जेल निरूद्ध….
तीनो आरोपी है नशे के आदी एवं महंगे शौक एवं नशे की लत को पूरा करने के लिए देते थे चोरी की घटनाओं को अंजाम…
तीनों आरोपी हैं वाल्मीकी नगर थाना कबीर नगर क्षेत्र के निवासी…
आरोपियों नें चोरी के रकम को कर लिए थे आपस में बटवारा…
आरोपी पूर्व में थाना आजाद चौक, कबीर नगर, कोतवाली एवं गोलबाजार के मामलों मे रह चुके है जेल निरूद्ध…
आरोपियोे की गिरफ्तारी हेतु उमनि एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा किया गया था एक विशेष टीम का गठन…
आरोपियों के कब्जे से 04 नग मोबाईल, 01 नग लैपटाॅप, अपराध में प्रयुक्त दो पहिया वाहन एवं नगदी 55 लाख 10 हजार रूपये किया गया है बरामद…
आरोपियों के विरूद्ध थाना मौदहापारा में अपराध क्रमांक 90/2020 एवं 91/2020 धारा 457, 380 भादवि. के तहत किया गया है अपराध पंजीबद्ध…
अब समाचार विस्तार से…
प्रार्थी पुनीत काबरा नें रिपोर्ट दर्ज कराया है कि वह कूल होम्स दलदल सिवनी मोवा थाना पंडरी रायपुर का निवासी है, तथा उसका पान मसाला, तम्बाकू, सिगरेट, एफ एम सी जी का सी एंड एफ और डिस्ट्रीब्यूशन का हरिओम एजेंसी के नाम से शहीद स्मारक काम्प्लेक्स रजबंधा मैदान मौदहापारा में हैं, दिनांक 10.09.2020 को शाम 07.00 बजे प्रार्थी के पिताजी श्री विश्वनाथ काबरा तथा नौकर खेमचंद उर्फ गोलू के द्वारा दुकान का शटर बंद कर ताला लगा दिया गया था, दिनांक 11.09.2020 को लगभग सुबह 09.30 बजे उसके पडोसी सुधीर भार्गव का उसके पास फोन आया कि आपके दुकान का आधा शटर खुला हुआ हैं, तब वह अपनें दुकान आकर देखा तो दुकान का ताला टुटा हुआ था, दुकान का शटर आधा उठा हुआ था, अंदर जा कर देखा तो काउंटर आदि के दराज खुला हुआ था, तथा सामान बिखरा हुआ था एवं अलमारी का लाक टुटा हुआ था, और अलमारी के लाॅकर मे रखे हुऐ नगदी रकम लगभग 67.20 लाख रू. गायब थे, जिसमें कुछ नोट 2000 के थे, तथा अधिकांश नोट 500-500 रू. के गड्डी में थे, जिसे किसी अज्ञात चोर द्वारा दुकान का शटर का ताले तोड़ कर तथा अलमारी का लाॅक तोड़ कर चोरी कर ले गया, जिस पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना मौदहापारा में अपराध क्रमांक 90/2020 धारा 457,380 भादवि. पंजीबद्ध किया गया था,
प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए पुलिस उप महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय श्री अजय यादव द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री तारकेश्वर पटेल एवं अतिरिक्त पुलिस अपराध श्री अभिषेक माहेश्वरी, नगर पुलिस अधीक्षक कोतवाली श्री देवचरण पटेल, नगर पुलिस अधीक्षक सिविल लाईन श्री नसर सिद्दकी, साइबर सेल प्रभारी रमाकांत साहू एवं थाना प्रभारी मौदहापारा श्री यदुमणी सिदार थाना प्रभारी गोलबाजार विनित दुबे, थाना प्रभारी मंदिर हसौद सोनल ग्वाला थाना प्रभारी आजाद चौंक अश्वनी राठौर एवं सायबर सेल के 20 स्टाफ की चार अलग-अलग टीम बनाकर अज्ञात आरोपियों की पतासाजी कर गिरफ्तारी हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा स्वयं घटना स्थल जाकर घटना स्थल का निरीक्षण भी किया गया, टीम द्वारा घटना स्थल का बारिकी से निरीक्षण करते हुए घटना के संबंध में प्रार्थी से विस्तृत पूछताछ प्रारंभ किया गया, घटना के संबंध में आसपास के लोगों से भी विस्तृत पूछताछ किया जाकर जानकारी एकत्र करना प्रारंभ किया गया, टीम द्वारा घटना स्थल व उसके आसपास लगे सी.सी.टी.व्ही. कैमरों के फुटेजों का अवलोकन करनें के साथ ही अज्ञात आरोपी के संबंध में तकनीकी विश्लेषण कर आरोपी को चिन्हांकित करनें के प्रयास प्रारंभ किए गए, इसी दौरान टीम को आरोपियों के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई जिस पर टीम द्वारा आरोपी रमेश महानंद को हिरासत में लेकर पूछताछ प्रारंभ किया गया, प्रारंभ में आरोपी रमेश महानंद द्वारा बार-बार अपना बयान बदलकर पुलिस को गुमराह करनें का प्रयास किया गया किन्तु कड़ाई से पूछताछ करनें पर आरोपी रमेश महानंद नें बताया कि वह अपने दो अन्य साथी बादल उर्फ गोरा जगत एवं गोपाल बाघ के साथ उक्त घटना को कारित किया है, इसके बाद टीम द्वारा अन्य दो आरोपी गोपाल बाघ एवं बादल जगत को भी हिरासत में लिया गया, आरोपियों नें पूछताछ में बताया कि घटना की रात करीब 12 बजे वे तीनों अपनें एक दोस्त से दो पहिया वाहन लेकर चोरी करनें निकले थे, और सबसे पहले नटराज इंटरप्राईजेस एवं उसके बाद हरिओम के शटर का ताला तोड़कर चोरी की घटना को अंजाम दिए, और घटना के बाद तीनों चोरी से प्राप्त रकम को आपस में बराबर-बराबर बांट लिए थे।

आरोपियों की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त दो पहिया वाहन एवं चोरी के 04 नग मोबाईल फोन, 01 नग लैपटाप एवं नगदी रकम 55 लाख 10 हजार रूपये बरामद किया गया है, शेष रकम के संबंध में आरोपियों से पूछताछ किया जा रहा है, ज्ञात हो कि आरोपी पूर्व मे भी चोरी, नकबजनी एवं लूट के प्रकरण में जेल निरूद्ध रह चुके है एवं आदतन किस्म के अपराधी है।

आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके विरूद्ध अग्रिम कार्यवाही की जा रही है, आरोपियों की गिरफ्तारी में लगी टीम को श्रीमान पुलिस महानिरीक्षक द्वारा 30,000 रूपये एवं उप पुलिस महानिरीक्षक द्वारा 20,000 रूपये नगद ईनाम देने की घोषणा की गई है।

आरोपियों के अपराधिक रिकार्ड के आधार पर संबंधित थानों में उनकी हिस्ट्रीशीट खोलनें की कार्यवाही की जा रही है।

आरोपियों की गिरफ्तारी में निम्न अधिकारी एवं कर्मचारियों की महत्वपूर्ण भूमिका रही- अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री तारकेश्वर पटेल, अति. पुलिस अधीक्षक, अपराध श्री अभिषेक माहेश्वरी, नगर पुलिस अधीक्षक सिविल लाईन नसर सिद्दकी, निरीक्षक रमाकांत साहू, यदुमणी सिदार, सोनल ग्वाला, अश्वनी राठौर, विनित दुब,े सउनि. गेंदुराम नवरंग, प्रधान आरक्षक मार्तण्ड सिंह, इरफान खान, मोह0कय्यूम, कुलदीप द्विवेदी, आरक्षक- जसवंत सोनी विजय पटेल, सुरेश देशमुख, आशिष राजपूत, अनुप मिश्रा, संदीप सिंह, नोहर देशमुख, धनंजय गोस्वामी, महेश नेताम, सुनील पाठक, प्रमोद वर्टी, दिलीप जांगड़े, अभिषेक सिंह।

गिरफ्तार आरोपीः-
01. रमेश महानंद पिता राजेश महानंद उम्र 23 वर्ष साकिन वाल्मीकी नगर बी-25 थाना कबीर नगर जिला रायपुर।
02. बादल उर्फ गोरा जगत पिता रामकुमार जगत उम्र 20 वर्ष साकिन वाल्मीकी नगर बी-36 थाना कबीर नगर जिला रायपुर।
03. गोपाल बाघ पिता रोहित बाघ उम्र 20 वर्ष साकिन गीता नगर स्टेडियम के पास कोटा थाना सरस्वती नगर जिला रायपुर।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.