पीएम मोदी ने देशवासियों को दी गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं…देश मना रहा 72वां गणतंत्र दिवस,

देश आज अपना 72वां गणतंत्र दिवस मना रहा है. 26 जनवरी 1950 को देश का सविधान लागू हुआ था और उसी उपलक्ष्य में हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है. पीएम मोदी ने देशवासियों को दी गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी है. भारत मंगलवार को गणतंत्र दिवस परेड के दौरान पहली बार राफेल लड़ाकू विमानों की उड़ान के साथ टी-90 टैंकों, समविजय इलेक्ट्रॉनिक युद्धक प्रणाली, सुखोई-30 एमके आई लड़ाकू विमानों समेत अपनी सैन्य शक्ति का प्रदर्शन करेगा. रक्षा मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार इस बार राजपथ पर 17 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की झांकियों का प्रदर्शन किया जाएगा. बांग्लादेश सैन्य बल की 122 सदस्यीय टुकड़ी भी राजपथ पर नजर आएगी। यह टुकड़ी बांग्लादेश के मुक्ति योद्धाओं की विरासत को आगे बढ़ाएगी, जिन्होंने दमन व अत्याचार के खिलाफ लड़ते हुए बांग्लादेश को 1971 में आजादी दिलाई थी। 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर जीत के उपलक्ष्य में स्वर्णिम विजय वर्ष मना रहा है। इस युद्ध के बाद ही बांग्लादेश अस्तित्व में आया था। परेड के दौरान थल सेना की ब्रह्मोस मिसाइल की मोबाइल प्रक्षेपण प्रणाली, जंगी टैंक टी-90 भीष्म, इनफैन्ट्री कॉम्बैट वाहन बीएमपी-दो सरथ और रॉकेट सिस्टम पिनाका समेत अन्य अपना दमखम दिखाएंगी। वहीं नौसेना आइएनएस विक्रांत और 1971 के भारत-पाक युद्ध के दौरान नौसैन्य अभियान की झांकी प्रस्तुत करेगी। वायुसेना हल्के लड़ाकू विमान तेजसऔर टैंक रोधी मिसाइल ध्रुवास्त्र पर पेशकश दिखाएगी। राफेल के अलावा वायु सेना के 38 और थल सेना के चार विमान परेड में हिस्सा लेंगे।


इसके अलावा रक्षा मंत्रालय की 6 झांकियां भी निकलेंगी. अर्धसैनिक बलों की 9 झांकियां प्रदर्शन में भाग लेंगी. इसके साथ ही गणतंत्र दिवस के मौके पर आत्मनिर्भर भारत और फिट इंडिया मूवमेंट जैसे अभियानों का प्रदर्शन देखने को भी मिलेगा. गणतंत्र दिवस के मौके पर इस बार कोई बाहरी मेहमान मौजूद नहीं होगा. अक्सर किसी देश का राष्ट्रप्रमुख ऐसे मौके पर मेहमान होता है, लेकिन कोरोना काल के कारण इस बार ऐसा नहीं हुआ. ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को इस बार का न्योता गया था, लेकिन उनके देश में कोरोना से हाल खराब हुए तो उन्होंने दौरा रद्द कर दिया. राष्ट्रीय समर स्मारक पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश के लिए बलिदान देने वाले नायकों को श्रद्धांजलि देने के साथ गणतंत्र दिवस परेड समारोह की शुरुआत होगी. प्रधानमंत्री मोदी ने आज खास जामनगर की पगड़ी पहनी हुई है। इस तरह की पहली ‘पगड़ी’ पीएम को जामनगर के शाही परिवार ने उपहार में दी थी। उन्होंने इंडिया गेट पर नेशनल वॉर मेमोरियल में सेरेमोनियल बुक पर हस्ताक्षर किया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत , चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ जनरल मनोज मुकुंद नरवाने और चीफ ऑफ नेवी स्टाफ एममिरल करमबीर सिंह भी मौजूद रहे। गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर दिल्ली में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पूरी राजधानी अभेद्य किले में तब्दील हो गई है। जमीन से लेकर आसमान तक कड़ा पहरा है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस व पैरा मिलिट्री तैनात है। सोमवार रात 12 बजे से ही दिल्ली की सभी सीमाएं सील कर दी गई हैं। इंट्री उन्हें ही मिलेगी, जिन्हें अति आवश्यक काम होगा।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.